गोपाल बाबू गोस्वामी जी का गीत - धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ...

सुनें गोपाल बाबू गोस्वामी जी का सुमधुर कुमाऊँनी गीत "धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ..... " listen famous Kumaoni  song "Dhan mera Bharata..."


सुनिए सुर सम्राट गोपाल बाबू गोस्वामी जी के सुमधुर गीत

सुनें, गोपाल बाबू गोस्वामी जी का 
लोकप्रिय गीत "धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ....... "

मित्रो, जैसा कि हम सब जानते हैं कि कुमाऊँ और उत्तराखण्ड में कई महान लोकगायक हुये हैं लेकिन गोपाल बाबू गोस्वामी एक ऐसे संगीत साधक हैं जिनकी पहचान ऊंचे पिच की वोईस क्वालिटी के कारण सबसे अलग है।  उनकी इस सुरीली आवाज का ही जादू है कि कुमाऊँनी ही नही अन्य भाषा-भाषी भी एक बार उनका गीत सुनने के बाद उनके गीतों को बार-बार सुनकर खुद गुनगुनाने को विवश हो जाता है।  गोपाल बाबू गोस्वामी जी ने विभिन्न प्रकार के गीत गाये हैं जैसे श्रंगार गीत, भक्ति गीत, पहाड़ के सौन्दर्य और पहाड़ के जन-जीवन से सम्बंधित गीत आदि।  लेकिन आज हम सुनेंगे गोस्वामी जी का एक देशभक्ति से ओत-प्रोत गीत "धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ..... "

प्रस्तुत गीत में गोस्वामी जी ने मातृभूमि के प्रति एक कवि और गायक के रूप में अपने प्रेम को व्यक्त किया है। इस गीत में गोस्वामी जी बता रहे हैं कि किस प्रकार वह अपने देश के लिए कोई भी बलिदान देने को तत्पर हैं और किस प्रकार अपने गीतों के माध्यम से भी देशवासियों में देशप्रेम का संचार करना चाहते हैं।  प्रस्तुत गीत के माध्यम से अपने राष्ट्रप्रेम को गोस्वामी जी ने ओजपूर्ण स्वरमें व्यक्त किया है:-

धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,
धन मेरो पहाड़ा मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,
ऐ.. जनम जनमा मैं तेरि सेवा में रूंलौ,
यौ.. तेरि सेवा लीजिया मैं ज्यौन रूंलौ मरुंलौ,

धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,
धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,
जनम जनमा मैं तेरि सेवा मे रूंलौ,
तेरि सेवा लीजिया मैं ज्यौन रूंलौ मरुंलौ,
धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,

तेरि माटि चनणा मैं ख्वर लगौने रूंलौ,
तेरि माटि चनणा मैं ख्वर लगौने रूंलौ,
तेरि पीड़ा मिटौलों मैं गीत लेखनै रूंलौ,
तेरि पीड़ा मिटौलों मैं गीत लेखनै रूंलौ,
सीतिया भै बैंणा कैं धाद लगौनै रूंलौ,
सीतिया भै बैंणा कैं धाद लगौनै रूंलौ,
गीत गै गै बेर मैं सीतियों कैं जगौंलौ,
तेरी रीता संस्कृति की जोत जगौंनै  रूंलौ,
धन मेरो पहाड़ा मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,
धन मेरो पहाड़ा मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,

धन मेरो पहाड़ा मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,
धन मेरो पहाड़ा मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,
धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,
धन मेरा भारता मैं तेरि बलाई ल्यूंलौ,
मैं तेरि सेवा में रूंलौ, मैं तेरि सेवा में रूंलौ,
मैं तेरि सेवा में रूंलौ, मैं तेरि सेवा में रूंलौ,

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ