आँण लाग (कुमाऊँनी पहेलियाँ)

पहेलियों को कुमाऊँनी भाषा में अहण या आँण कहते हैं, Some riddles in Kumaoni language, Kumaoni bhasha ki paheliyaan

आँण लाग

(कुमाऊँनी पहेलियाँ)

दिनक सित रातक बिज
हिंदी में - दिन में सोये, रात में जागे
पहेली का हल - गल्यूँ

बाप पेट च्योल बाजार 
हिंदी में - पिता छोटा बेटा बड़ा 
पहेली का हल - पिनालु (घुइयाँ)

सिमारक हड़ सुक न सड़ 
हिंदी में - ऐसा अंग जो ना सूखता है ना सड़ता
पहेली का हल - जिबड़ (जीभ)

सरग नजर 
हिंदी में - जिसकी नजर हमेशा आसमान  ओर हो
पहेली का हल - उरख्यलि या ऊखल (ओखली)

काव् भूतौक को सफेद गिच्च
हिंदी में - काले भूत के सफ़ेद होंठ
पहेली का हल - माँस (उरद) का दाना

मुट्ठी में अटाँछ, देलि नि अटान
हिंदी में - मुट्ठी के अंदर आ जाता है पर द्वार से अंदर नहीं आ पाता
पहेली का हल - छत्त, छात (छतरी)

काठकि घोड़ि लुवकि लगाम, उ में भैट फुरकिया पधान 
हिंदी में - काठ की घोड़ी, लोहे की लगाम और उस पर एक बिलकुल हल्की सवारी
पहेली का हल - ताव-चाबि (दरवाजे का ताला और उसकी चाबी)

उपरोक्त अहण या आँण (कुमाऊँनी पहेलियाँ) के सम्बन्ध में सभी पाठकों से उनके विचारो, सुझावों एवं टिप्पणियों का स्वागत है।
 
उत्तराखण्डी मासिक: कुमगढ़ 38, वर्ष 07 अंक 7-8 नवम्बर-दिसम्बर 2020

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ